Apna Himachal

स्वच्छ भारत मिशन में सराहनीय कार्य करने के लिए किया सम्मानित

March 02, 2017 07:11 PM

सोलन:

जिला ग्रामीण विकास अभिकरण द्वारा सम्मान समारोह का आयोजन किया जिसमें अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी विनय कुमार ने मुख्य अतिथि के रूप में षिरकत की। समारोह के दौरान विभिन्न महिला प्रतिभागियों ने अपने-अपने विचार साझा किए कि किस प्रकार उनके द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में स्वच्छता सम्बन्धी गतिविधियों का आयोजन करके अपने क्षेत्र को स्वच्छ बनाया जा रहा है।

 ‘‘स्वच्छ शक्ति सप्ताह’’ के अन्तर्गत को उपायुक्त कार्यालय के बचत भवन में जिला के विभिन्न महिला पंचायत प्रतिनिधियों, महिला मण्डलों एवं महिला स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों जिन्होंने स्वच्छ भारत मिशन में सराहनीय कार्य किया है

उनके लिए जिला ग्रामीण विकास अभिकरण द्वारा सम्मान समारोह का आयोजन किया जिसमें अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी विनय कुमार ने मुख्य अतिथि के रूप में षिरकत की। समारोह के दौरान विभिन्न महिला प्रतिभागियों ने अपने-अपने विचार साझा किए कि किस प्रकार उनके द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में स्वच्छता सम्बन्धी गतिविधियों का आयोजन करके अपने क्षेत्र को स्वच्छ बनाया जा रहा है।

इस अवसर पर अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी ने समस्त पंचायत प्रतिनिधियों, महिला मण्डलों एवं स्वयं सहायता समूहों को अपनी-अपनी पंचायतों को खुला शौच मुक्त करने तथा स्वच्छता बनाये रखने के लिए शुभकामनाएं दी तथा स्मृति चिन्ह प्रदान किये। उन्होंने कहा कि यदि हमारे गांव में स्वच्छ होंगे तो बीमारियों नहीं फैलती हैं।

उन्होंने कहा हमें अपने पारम्परिक जल स्त्रोंतों में स्वच्छता बनाए रखें तथा पंचायतों का खुला शौच मुक्त के स्तर कोे बनाए रखना बहुत ही आवश्यक  है। उन्होंने कहा कि ‘‘स्वच्छ शक्ति सप्ताह’’ दिनांक 1 मार्च से 8मार्च 2017 तक के दौरान आयोजित किया जाएगा तथा इस दौरान निम्न निम्न गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। 


1 मार्चः स्वच्छ शक्ति सप्ताह का जिला स्तर पर शुभारम्भ एवं महिला पंचायत प्रतिनिधियों, महिला मण्डल प्रधान एवं महिला स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों के साथ बैठक का आयोजन।
 2 मार्च: जिला / खण्ड / पंचायत स्तर पर महिला स्वच्छता चैंपियन का सम्मान।
3 मार्चः जिला / खण्ड / पंचायत स्तर पर स्वच्छता सम्बन्धी वीडियो फिल्म का प्रस्तुतिकरण व पंचायत प्रतिनिधियों/ महिला मण्डल सदस्यों एवं स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों द्वारा खुले में शौच  मुक्त का स्तर बनाए रखने के लिए घर-घर जाकर जागरूक करना।
4 मार्चः जिला स्तर पर महिला एवं बाल विकास विभाग व ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संयुक्त रूप में प्रैस कान्फ्रेंस।
5 मार्च: जिला, खण्ड एवं पंचायत स्तर पर महिलाओं के लिए खेल  सम्बन्धी गतिविधियों का आयोजन एवं महिला स्वच्छता चैंपियनों को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित करना।
6 मार्चः कॉलेजों, स्कूलों में लड़कियों के लिए स्वच्छता सम्बन्धी भाषण एवं पेंन्टिग प्रतियोगिता का आयोजन करना।
7 मार्चः पंचायत प्रतिनिधियों के लिए ठोस एवं तरल कचरा प्रबन्धन में उत्कृष्ट  कार्य कर रही पंचायतों में बाहरी भ्रमण।
8 मार्चः जिला एवं खण्ड स्तर पर अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाना।

Have something to say? Post your comment