States

कार्निवाल परेड में महिलाओं ने दिया कैशलेस का संदेश

January 02, 2017 07:20 PM

मनाली

नोटबंदी को लेकर चाहे देश में जीतना भी चर्चा रही हो लेकिन ग्रामीण महिलाएं इन सब चर्चाओं को दर किनार करते हुए कैशलेस इंडिया का संदेश देते हुए नजर आई। यह नजारा दिल्ली, मुबई, जैसे महानगरों को छोडक़र हिमाचल जैसे पहाड़ी राच्य के मनाली शहर में देखने को मिला। दूर दराज क्षेत्र सेथन की महिलाओं ने विंटर कार्निवाल परेड में कैशलेस का संदेश दिया। इससे इस बात का भी पता चलता है कि अंतरराष्टीय पर्यटन स्थल होने के साथ लोग आधुनिक सोच भी रखते हैं। सेथन की इन महिलाओं ने कैशलेस थिम पर झांकी निकालकर लोगों को इस ओर जागरुक करने का बेहतर प्रयास किया। नोटबंदी का मनाली के पर्यटन कारोबार में कोई असर देखने को नहीं मिला है। 31 दिसंबर की रात को पर्यटकों की संख्या ने पिछले सारे रिकार्ड तोड़ दिए और प्रदेश सहित देश भर के लगभग 4 हजार पर्यटक वाहनों ने मनाली दस्तक दी।

वृद्ध महिलाएं हाथ में बैनर व संदेश लिए जब कार्निवाल परेड में शामिल हुई तो पर्यटक भी हैरान रह गए। पारंपरिक परिधानों में सजी ये महिलाएं नई दुल्हन से अधिक सुंदर लग रही थी। मनाली के परिधि गृह से चलकर जैसे ही ये महिलाएं माल रोड पहुंची तो पर्यटकों में फोटो व सेल्फी लेने की होड़ मच गई। अधिकतर महिलाओं ने स्वच्छता, लुप्त हो रहे पकवान व वतर्न, बेटी बचाओ और पर्यावरण थीम पर झांकियां निकाली। सेथन महिला मंडल ने कैशलेस तो महादेव महिला मंडल बराण ने कुल्लू की ज्वलंत समस्या घर व जंगल की आग के दूष परिणाम व उनसे निपटने के तरीके तथा सावधानी बरतने का संदेश दिया

पिछले साल 2 जनवरी को पर्यटकों की आमद कम थी जबकि इस बार आधे से च्यादा होटल अभी भी पैक चल रहे हैं। वृद्ध महिलाएं हाथ में बैनर व संदेश लिए जब कार्निवाल परेड में शामिल हुई तो पर्यटक भी हैरान रह गए। पारंपरिक परिधानों में सजी ये महिलाएं नई दुल्हन से अधिक सुंदर लग रही थी। मनाली के परिधि गृह से चलकर जैसे ही ये महिलाएं माल रोड पहुंची तो पर्यटकों में फोटो व सेल्फी लेने की होड़ मच गई। अधिकतर महिलाओं ने स्वच्छता, लुप्त हो रहे पकवान व वतर्न, बेटी बचाओ और पर्यावरण थीम पर झांकियां निकाली। सेथन महिला मंडल ने कैशलेस तो महादेव महिला मंडल बराण ने कुल्लू की ज्वलंत समस्या घर व जंगल की आग के दूष परिणाम व उनसे निपटने के तरीके तथा सावधानी बरतने का संदेश दिया। गौर हो कि इस साल मनाली-कुल्लू में आग लगने से बहुत से घर जल गए हैं तथा जंगलों में आग लगने से करोड़ों की वन संपदा भी नष्ट हुई है। बहरहाल, पहाड़ी राज्यों के दूर दराज क्षेत्रों की महिलाओं द्वारा बेहतरीन थीम के साथ निकाली गई झांकियों ने देश भर से मनाली आए पर्यटकों को हैरान किया है।

Have something to say? Post your comment