States

वरिष्ठ नागरिकों के बहुमूल्य अनुभवों से विकास को एक नई दिशा प्रदान की जा सकती है: डॉ. शांडिल

January 01, 2017 06:41 PM

कण्डाघाट: सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. कर्नल धनीराम शांडिल ने कहा कि वरिष्ठ नागरिक समाज के लिए अमूल्य हैं और प्रदेश सरकार वरिष्ठ नागरिकों को आवश्यक सुविधाएं प्रदान करने के लिए दृढ़ संकल्प है। उन्होंने सोलन जिले के कण्डाघाट उपमण्डल के सायरी में हेल्पेज इंडिया तथा वरिष्ठ नागरिक एवं पैंशनर्ज कल्याण संघ सायरी द्वारा आयोजित एक समारोह की अध्यक्षता कर रहे थे।
उन्होंने  कहा कि वरिष्ठ नागरिकों ने विभिन्न स्तरों पर देश एवं प्रदेश तथा समाज के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। वरिष्ठ नागरिकों के बहुमूल्य अनुभवों से विकास को एक नई दिशा प्रदान की जा सकती है। उन्होंने युवा वर्ग से आग्रह किया कि वे वरिष्ठ नागरिकों को यथोचित सम्मान दें तथा उनके अनुभवों से लाभ उठाएं।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार अपने वरिष्ठ नागरिकों का पूरा ध्यान रख रही है तथा उन्हें समय-समय पर विभिन्न लाभ प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हाल ही में राज्य सरकार ने 65, 70 तथा 75 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले अपने पैंशनरों को क्रमशः 5 प्रतिशत, 10 प्रतिशत और 15 प्रतिशत अतिरिक्त पैंशन प्रदान करने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि गत चार वर्षों में राज्य सरकार ने पैंशनरों को 970 करोड़ रुपये के वित्तीय लाभ प्रदान किए हैं। उन्होंने वरिष्ठ नागरिकों से आग्रह किया कि वे युवा पीढ़ी का उचित मार्गदर्शन करें ताकि युवा देश के बेहतर नागरिक बन सकें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अंतर्गत विवाह अनुदान राशि को 25 हजार रुपये से बढ़ाकर 40 हजार रुपये किया गया है। इस योजना से अभी तक 4682 कन्याएं लाभान्वित हुई हैं। 

वरिष्ठ नागरिक अपने संयम और अनुभवों के बल पर युवाओं को नशे जैसी बुराई से दूर रखने में सहायक बन सकते हैं।
उन्होंने  कहा कि पैंशनरों के साथ-साथ प्रदेश के अन्य वरिष्ठ नागरिकों को भी विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत वित्तीय लाभ एवं सुविधाएं प्रदान की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की वर्तमान कांग्रेस सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पैंशन को 450 रुपये से बढ़ाकर 650 रुपये प्रतिमाह किया है। 80 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के वरिष्ठ नागरिकों तथा 45 वर्ष से कम आयु की विधवा माताओं की पैंशन बढ़ाकर 1200 रुपये प्रतिमाह की गई है। 


सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने कहा कि प्रदेश के वरिष्ठ नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए अनेक नवीन प्रयास किए गए हैं। प्रदेश के अस्पतालों में वरिष्ठ नागरिकों की पर्ची बनाने की अलग व्यवस्था की गई है। क्षेत्रीय अस्पतालों में वरिष्ठ नागरिकों के लिए अलग ओपीडी की व्यवस्था भी है।
उन्होंने इस अवसर पर नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए सभी के अच्छे स्वास्थ्य एवं बेहतर भविष्य की कामना की। और विभिन्न विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि क्षेत्र में निर्माणाधीन विभिन्न विकासात्मक परियोजनाओं को 31 मार्च, 2017 तक पूरा किया जाए। उन्होंने कहा कि सायरी में 108 एम्बुलैंस उपलब्ध करवाने का मामला स्वास्थ्य निदेशालय से उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि उपयुक्त भूमि उपलब्ध होते ही सायरी में ओल्ड एज होम निर्मित किया जाएगा। उन्होंने वरिठ नागरिक एवं पैंशनर्ज कल्याण संघ सायरी को फर्नीचर के लिए 50-50 हजार रुपये तथा समारोह आयोजित करने के लिए 21 हजार रुपये प्रदान करने की घोषणा की।

उन्होंने सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग के कलाकारों की बेहतरीन प्रस्तुतियों  की सराहना की। विभागीय कलाकारों द्वारा इस अवसर पर प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी प्रदान की गई। वरिष्ठ नागरिक कल्याण संघ सायरी के सचिव अभीराम कश्यप ने मुख्यातिथि का स्वागत किया। दोनों संस्थाओं ने डॉ. कर्नल धनीराम शांडिल को सर्वसम्मति से संस्थाओं का पैट्रन घोषित किया।
पैंशनर्ज कल्याण संघ के प्रधान कंवर मोहन सिंह, सचिव राम रतन वर्मा, वरिष्ठ नागरिक संघ के प्रधान जीआर भारद्वाज, प्रदेश अनुसूचित जाति विकास निगम निदेशक मण्डल के सदस्य पलकराम कश्यप, खण्ड कांग्रेस समिति कण्डाघाट के उपाध्यक्ष त्रिलोक शांडिल, हिमाचल प्रदेश हैल्पेज इंडिया के प्रभारी डॉ. राजेश कुमार, प्रधान ग्राम पंचायत ममलीग द्रोपती राठौर, पूर्व प्रधान ममलीग सत्या ठाकुर, पूर्व बीडीसी अध्यक्ष गोगुल चन्द मेहता सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति तथा पैंशनर एवं वरिष्ठ नागरिक इस अवसर पर बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment