States

मनाली के माल रोड में कुल्लवी संस्कृति की झलक

January 01, 2017 03:11 PM


मनाली: नव वर्ष की पूर्व संध्या पर मनाली माल रोड में एक साथ थिरके डेढ़ हजार महिलाओं के कदमों ने खूब समा बांध दिया। कुल्लवी वाद्य यंत्रों की धुन में महिलाओं ने जब नाचना शुरु किया तो पर्यटक भी हैरान रह गए। हालांकि विंटर कार्निवाल कमेटी की ओर से यह मात्र एक रिहसल थी लेकिन पर्यटक कुल्लू की संस्कृति को देख खुश हो उठे। कार्निवाल कमेटी की ओर से महिलाओं को पहले रामबाग में नाटी की विशेषज्ञ महिलाओं द्वारा टिप्स दिये गए इसके बाद माल रोड मनाली में लगभग दो घंटे महिलाओं ने नाटी डाली। एक साथ थिरके हजारों कदमों का दृश्य देखते ही बना। घाटी की महिलाओं में भारी उत्साह देखने को मिला। कुल्लवी परिधान में सजी महिलाएं आज पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र रही। देश भर से नव वर्ष का जश्न मनाने मनाली आए पर्यटकों ने कुल्लू की इस संस्कृति को अपने कैमरे में कैद किया। मनाली घाटी के लगभग 70 महिला मंडलों की 1400 महिलाओं ने कुल्लवी वेशभूषा में नाटी डाली।

कुल्लवी वाद्य यंत्रों की धुन में महिलाओं ने जब नाचना शुरु किया तो पर्यटक भी हैरान रह गए। हालांकि विंटर कार्निवाल कमेटी की ओर से यह मात्र एक रिहसल थी लेकिन पर्यटक कुल्लू की संस्कृति को देख खुश हो उठे। कार्निवाल कमेटी की ओर से महिलाओं को पहले रामबाग में नाटी की विशेषज्ञ महिलाओं द्वारा टिप्स दिये गए 

 2 से 6 जनवरी तक मनाये जा रहे विंटर कार्निवाल में कुल्लवी नाटी प्रतियोगिता उत्सव का आकर्षण रहेगी। प्रथम टीम को एक लाख तथा दूसरे स्थान पर रहने वाली टीम को 50 हजार नगद इनाम दिया जाएगा। इसके अलावा इन 77 महिला मंडलों के बीच भी प्रतियोगिता होगी और बेहतरीन कुल्लवी नाटी प्रस्तुत करने वाले महिला मंडल को 20 और दूसरे स्थान वाले महिला मंडल को 10 हजार से सम्मानित किया जाएगा। विंटर कार्निवाल कमेटी की सांस्कृतिक उप समीति के संयोजक सतीश सूद ने बताया कि कार्निवाल में कुल्लवी नाटी मुख्य आकर्षण रहेगी। उन्होंने कहा कि 3, 5 और 6 जनवरी को कुल्लवी नाटी प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। एसडीएम मनाली एचआर बैरवा ने कहा कि कार्निवाल के सफल आयोजन को हर संभव प्रयास किये गए हैं। पर्यटकों को कुल्लवी संस्कृति से रुबरु करने के लिए ही  कुल्लवी नाटी आयोजित की गई है।

Have something to say? Post your comment