States

डॉ. शांडिल ने कहा छात्रों को सूचना प्रौद्योगिकी तथा आधुनिक तकनीक का ज्ञान होना आवश्यक

December 31, 2016 06:47 PM

कण्डाघाट: सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. कर्नल धनीराम शांडिल ने कहा कि छात्रों को सूचना प्रौद्योगिकी के साथ-साथ आधुनिक तकनीक का ज्ञान दिया जाना आवश्यक है ताकि वे भविष्य की चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना कर सकें। डॉ. शांडिल आज सोलन जिले के कण्डाघाट उपमण्डल की ग्राम पंचायत तुन्दल की राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कल्होग में वार्षिक पारितोषित वितरण समारोह की अध्यक्षता कर रहे थे।
डॉ. शांडिल ने कहा कि वर्तमान समय में शिक्षा का सम्पूर्ण ज्ञान एवं तकनीक की जानकारी प्राप्त करना आवश्यक हो गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार छात्रों को आधुनिक तकनीक एवं सूचना प्रौद्योगिकी का ज्ञान प्रदान करने के लिए वचनबद्ध है। प्रयास किया जा रहा है कि प्रदेश के दुर्गम एवं ग्रामीण क्षेत्रों में भी छात्रों को उनके घर-द्वार पर ही अच्छी शिक्षा सुविधाएं उपलब्ध हों। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए गत चार वर्षों में प्रदेश में 1300 से अधिक नए विद्यालय या तो खोले गए हैं अथवा स्तरोन्नत किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इन विद्यालयों में विभिन्न श्रेणियों के 5600 से अधिक पद भी सृजित किए गए हैं ताकि अधोसंरचना निर्माण के साथ-साथ अध्यापकों एवं कर्मचारियों की कमी न रहे। सोलन जिले में भी गत चार वर्षों में 70 से अधिक स्कूल खोले अथवा स्तरोन्नत किए गए हैं। इस वित्त वर्ष में प्रदेश सरकार शिक्षा क्षेत्र पर 6013 करोड़ रुपये खर्च कर रही है।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने गत चार वर्षों में शिक्षा विभाग में विभिन्न श्रेणियों के 9500 से अधिक पद भरे हैं। इस दौरान 6900 से अधिक शिक्षक नियमित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार मेधावी छात्रों को प्रोत्साहित कर रही है। राजीव गांधी डिजिटल विद्यार्थी योजना के अंतर्गत 10वीं तथा 12वीं कक्षा के मेधावी छात्रों को हर वर्ष 10 हजार लैबटॉप प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सोलन जिले में भी इस योजना के तहत 700 से अधिक लैबटॉप वितरित किए जा चुके हैं। 

उन्होंने कहा कि इन विद्यालयों में विभिन्न श्रेणियों के 5600 से अधिक पद भी सृजित किए गए हैं ताकि अधोसंरचना निर्माण के साथ-साथ अध्यापकों एवं कर्मचारियों की कमी न रहे। सोलन जिले में भी गत चार वर्षों में 70 से अधिक स्कूल खोले अथवा स्तरोन्नत किए गए हैं। इस वित्त वर्ष में प्रदेश सरकार शिक्षा क्षेत्र पर 6013 करोड़ रुपये खर्च कर रही है।

 
डॉ. शांडिल ने अध्यापकों से आग्रह किया कि वे छात्रों को अनुशासन का महत्व समझाएं तथा उन्हें नैतिक मूल्यों की जानकारी दें ताकि ये युवा कल के बेहतर नागरिक बन सकें। उन्होंने छात्रों से आग्रह किया कि वे नशे से दूर रहें। उन्होंने कहा कि छात्रों को नशे के जहर से बचाने में चुने हुए प्रतिनिधियों, अध्यापकों तथा अभिभावकों को अग्रणी भूमिका निभानी होगी।
उन्होंने वार्षिक पारितोषिक वितरण में मेधावी छात्रों को बधाई देते हुए आशा जताई कि आने वाले वर्षों में सभी छात्र इसी प्रकार मेहनत कर लक्ष्य प्राप्त करते रहेंगे।
डॉ. शांडिल ने इस अवसर पर कहा कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कल्होग में विज्ञान खण्ड का निर्माण किया जाएगा। उन्हांेने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कल्होग में छात्र तथा छात्राओं के लिए अलग-अलग शौचालय निर्माण के लिए समुचित धन उपलब्ध करवाने की घोषणा भी की। उन्होंने दुर्गा माता मंदिर साधुपुल में विभिन्न कार्यों के लिए दो लाख रुपये और प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले छात्रों को अपनी ऐच्छिक निधि से 5100 रुपये प्रदान करने की घोषणा की।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने विद्यालय के वार्षिक अवसर पर मेधावी छात्रों को पुरस्कृत भी किया।
इस अवसर पर उन्होंने जन समस्याएं भी सुनीं तथा अधिकतर समस्याओं का मौके पर निपटारा सुनिश्चित बनाया। शेष समस्याओं को शीध्र निपटाने के लिए संबंधित विभागों को निर्देश दिए।
इस अवसर पर छात्रों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।
प्रदेश कांग्रेस समिति के सचिव हेमेन्द्र ठाकुर ने इस अवसर पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कल्होग में विज्ञान खण्ड निर्मित करने की मांग की।
विद्यालय की प्रधानाचार्य नीलम शर्मा ने वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की।
खण्ड कांग्रेस समिति कण्डाघाट के अध्यक्ष अजय वर्मा, ग्राम पंचायत तुन्दल के प्रधान प्रवीण ठाकुर, ग्राम पंचायत बाशा की प्रधान नीशा शर्मा, ग्राम पंचायत सकौड़ी के प्रधान सुरेन्द्र कश्यप, ग्राम पंचायत पौधना के प्रधान संजीव ठाकुर, ग्राम पंचायत सकौड़ी के उप प्रधान जितेन्द्र ठाकुर, ग्राम पंचायत छावशा के उप प्रधान गंगा राम, बीडीसी सदस्य माया देवी एवं कमल ठाकुर, सीडीपीओ शांति बिष्ट, लोक निर्माण विभाग तथा विद्युत बोर्ड के अधिकारी, विद्यालय के छात्र, अभिभावक तथा अध्यापक इस अवसर पर उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment