Apna Himachal

फोरलेन के अधिगृहीत भूमि पर कब्जा लेने की प्रक्रिया 29 से

May 26, 2017 05:43 PM

सोलन:


राकेश कंवर ने प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अधिगृहीत की गई भूमि अथवा सम्पत्ति पर यदि कोई गैरकानूनी निर्माण या कार्य किया जा रहा है तो उसे भी तुरन्त हटाया जाए। उपायुक्त ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग के फोरलेन का कार्य प्रदेश के लिए सामरिक एवं आर्थिक दृष्टि से अतयन्त महत्वपूर्ण है तथा इस कार्य को निर्धारित समयावधि में किया जाना आवश्यक है।

उपायुक्त सोलन राकेश कंवर ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को निर्देश दिए हैं कि प्राधिकरण सोलन से चम्बाघाट तक फोरलेन कार्य के दृष्टिगत अधिगृहीत की गई भूमि का कब्जा लेने की प्रक्रिया 29 मई, 2017 से आरम्भ करे। उपायुक्त ने यह निर्देश इस सम्बन्ध में गत सांय यहां आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए।

उन्होंने कहा कि अधिगृहीत की गई भूमि का कब्जा लेने की प्रक्रिया 29 मई से आरम्भ की जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस प्रक्रिया को तयशुदा समयसीमा में पूरा किया जाए ताकि राष्ट्रीय उच्च मार्ग की फोरलेनिंग का कार्य शीघ्र पूरा हो सके। उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को यह निर्देश भी दिए कि अधिगृहीत की गई उन अधोसंरचनाओं को भी गिराना आरम्भ करें जिनका भुगतान सम्बन्धित सम्पत्ति स्वामियों को हो चुका है। उन्होंने कहा कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण इस सम्बन्ध में नोटिस जारी कर कार्यवाही अमल में लाए।

राकेश कंवर ने प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि अधिगृहीत की गई भूमि अथवा सम्पत्ति पर यदि कोई गैरकानूनी निर्माण या कार्य किया जा रहा है तो उसे भी तुरन्त हटाया जाए। उपायुक्त ने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग के फोरलेन का कार्य प्रदेश के लिए सामरिक एवं आर्थिक दृष्टि से अतयन्त महत्वपूर्ण है तथा इस कार्य को निर्धारित समयावधि में किया जाना आवश्यक है।

पुलिस अधीक्षक सोलन अंजुम आरा, अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी सन्दीप नेगी, उपमण्डलाधिकारी एकता कापटा, तहसीलदार सोलन, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी तथा फोरलेन कार्य में संलग्न ठेकेदार बैठक में उपस्थित थे।

Have something to say? Post your comment