National

चुनाव प्रचार के अंतिम चरण में पहले नम्बर पर पहुंचे देश राज अग्रवाल

April 17, 2017 04:04 PM
दिल्ली:

प्रतिद्वंदी पार्टियों के लिए यह किसी अचरज से कम नहीं है कि आम आदमी पार्टी ने वार्ड-65 सरस्वती विहार से एमसीडी चुनावों में जिस चेहरे देश राज अग्रवाल को अपना उम्मीदवार घोषित किया है वह इतनी तेजी से लोगों के बीच पहचान बनाता हुआ आज लोकप्रियता के शीर्ष पर पहुंच गया है। दूसरे दलों के प्रत्याशी इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं कि इतना दुष्प्रचार करने के बावजूद आम आदमी पार्टी के साथ जनता का हुजूम कैसे जुड़ पा रहा है।
 
राजनीति के जानकारों का मानना है कि दिल्ली सरकार द्वारा 2 वर्ष के दौरान किए गए विकास कार्य दिल्ली की जनता के जहन में गहराई से घर कर गए हैं। जनता अब यह भली भांति जान चुकी है कि आम आदमी पार्टी के सिवा किसी भी राजनैतिक पार्टी से उम्मीद करना खुद को धोखे में रखने से कम नहीं है। मतदाताओं का मानना है कि आम जनता के हितों के लिए किसी से भी टकरा जाने का दम रखने वाले अरविंद केजऱीवाल के प्रत्याशियों को जिता कर ही जनता की सही अर्थों में जीत हो सकती है।
 
मतदाता यह भी भली भांति समझ गया है कि यदि एमसीडी में भाजपा अथवा कांग्रेस जीत गई तो केंद्र बिजली व पानी एमसीडी के अधीन कर बिजली व पानी माफिया को खुली लूट की आज़ादी दे देगा जिससे बढऩे वाली मंहगाई के कारण जनता का जीना दुभर हो जाएगा।  इसके अतिरिक्त देश राज अग्रवाल की खुद की समाज सेवी छवि भी उन्हें जनता से जोड़े रखने में मददगार हो रही है।
देश राज अग्रवाल उन बच्चों के चेहरों से छिनी मुस्कराहट लौटाने का अनूठा प्रयास करते हैं जिनकी मुस्कराहट मां-बाप की आर्थिक तंगी के कारण काम के बोझ से कफूर हो जाती है। जो बच्चे दूसरे बच्चों को स्कूल जाते देख मन मार कर काम करने को विवश होते हैं उनके स्कूल का तमाम खर्च उठा कर देश राज अग्रवाल ने न जाने कितने नौनिहालों के बचपन को संभाला संवारा है। हर जरूरतमंद की मदद करना देशराज की सुहृदय प्रवृति का एक अहम हिस्सा है।
 
पार्टी ने इसी कर्मठ, ईमानदार एवं समाज सेवा के लिए समर्पित यौद्धा को चुनाव मैदान में उतारा है और आज एमसीडी प्रत्याशी के रूप में सरस्वती विहार वार्ड-65 से देश राज चुनाव मैदान में हैं। देशराज कहते हैं कि भ्रष्टाचार ने हमेशा मन को आहत किया, भ्रष्टाचार के खिलाफ संघर्ष हमेशा रहा है और इसी संघर्ष को जब 'आप' का साथ मिला तो समाज सेवा के हौंसले और बुलंद हो गए। अब सपना है जिस तरह दिल्ली सरकार के कार्यालयों को भ्रष्टाचार मुक्त बनाया गया है वैसे ही नगर-निगम कार्यालयों को भी बनाया जाए।
 
2013 में आप से जुडने के बाद इन्होंने मन में ठान लिया था कि भ्रष्टाचार खत्म करने में जितना भी श्रम करना पड़े करूँगा। पार्टी ने इनके इसी जनून और सामाजिक कार्यों को देखते हुए अपना उम्मीदवार घोषित किया है।देशराज अग्रवाल ने बताया उनके इस वार्ड में गंदगी सबसे बड़ी समस्या है, नगर-निगम का मुख्य कार्य सफाई करवाना है लेकिन वह अपने इस काम को ही सही तरीके से करने में नाकाम दिखती है। सड़कों पर कूड़े के ढ़ेर नजर आते हैं, नालियों की सफाई नहीं की जाती हैं।  अगर नगर-निगम में कोई कार्य करवाने चले जाओ तो वहां प्रत्येक काम की एवज में पैसों की मांग की जाती है। नगर-निगम में भ्रष्टाचार सबसे विकट समस्या है।
 
एक ओर जहां निगम में कार्य नहीं हो रहे हैं वहीं स्थानीय विधायक लगातार विकास कार्य करवा रहे हैं। विधायक ने क्षेत्र के विकास करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। पानी से जुड़ी समस्या खत्म की जा चुकी है, स्ट्रीट लाइट लगवाई गई हैं, बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। शिक्षा के लिए स्कूलों को बेहतर बनाया जा रहा है। जब भ्रष्टाचार खत्म होगा तब ही लोग आसानी से निगम से जुड़े अपने काम करवा सकेंगे। निगम स्कूलों, डिस्पेंसरियों की हालात भी सुधरेगी। उनका दावा है कि वह भी दिल्ली को बेहतर, भ्रष्टाचार मुक्त निकाय बनाने में अपनी भूमिका अदा करेंगे।
Have something to say? Post your comment